कोरोना संक्रमण से निपटने के लिये किये जा रहे कार्यों में डाॅक्टर, हेल्थ वर्कर, पुलिस, सफाईकर्मी एवं अन्य फ्रंटलाइन वर्कर की भूमिका महत्वपूर्ण: मुख्यमंत्री 

401
0
SHARE

पटना, 11 अप्रैल 2020:- 1 अणे मार्ग में मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने मुख्य सचिव के साथ कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये किये जा रहे कार्यों की गहन समीक्षा की। समीक्षा के क्रम में मुख्यमंत्री ने राज्य में कोरोना संक्रमण की अद्यतन स्थिति के साथ-साथ दवा, उपकरण, मास्क, पी0पी0ई0 किट्स इत्यादि की उपलब्धता एवं आपूर्ति की जानकारी ली। ज्ञात हो कि राज्य में कोरोना संक्रमण के इलाज के लिये माइल्ड सिमटम्स वाले मरीजों के लिये कोविड केयर सेंटर, माॅडरेट सिमटम्स वाले मरीजों के लिये कोविड हेल्थ सेंटर तथा गंभीर संक्रमण वाले मरीजों के लिये कोविड हाॅस्पीटल का संचालन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड हाॅस्पीटल में आवश्यक दवाओं एवं उपकरणों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जाय। आवश्यकतानुसार अस्पतालों की संख्या भी बढ़ायी जा सकती है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के अलावा अन्य बीमारियों के मरीजों के लिये भी स्वास्थ्य सेवा की समुचित व्यवस्था रखें, वहाॅ पर्याप्त सुविधायें उपलब्ध हो और वहाॅ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी सुनिश्चित करायें।

मुख्यमंत्री ने निर्देश देते हुये कहा कि केन्द्र सरकार एवं निजी आपूर्तिकर्ताओं से समन्वय कर दवा एवं उपकरणों की ससमय आपूर्ति सुनिश्चित करायें। आगामी आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुये आवश्यक दवाओं एवं उपकरणों की पर्याप्त व्यवस्था रखें। उन्होंने कहा कि संदिग्ध कोरोना मरीजों के सम्पर्क वाले क्षेत्रों में गहन रूप से ट्रेसिंग, टेस्टिंग एवं ट्रैकिंग करायें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण से निपटने के लिये किये जा रहे कार्यों में डाॅक्टर, हेल्थ वर्कर, पुलिस, प्रशासनिक पदाधिकारी एवं कर्मी, सफाईकर्मी तथा अन्य फ्रंटलाइन वर्कर महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। उन्होंने लोगों से अपील की कि इन लोगों के साथ किसी प्रकार का दुर्व्यवहार न करें। ये लोग प्रतिदिन जान जोखिम में डालकर देश और समाज के लिये काम कर रहे हैं। हम सभी का दायित्व है कि इन सभी का उत्साह बढ़ाते रहें। सभी को इनकी सुविधाओं एवं सुरक्षा का ध्यान रखना हेागा। मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की कि कोरोना संक्रमण को लेकर फैल रहे अफवाहों पर ध्यान नहीं दें। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुये कहा कि लोगों तक सही जानकारी पहुॅचायें और यह सुनिश्चित करें कि सामाजिक सद्भाव बना रहे।

मुख्यमंत्री ने राज्य के बाहर रह रहे प्रवासी मजदूरों के खाते में राशि हस्तांतरण पर संतोष व्यक्त किया और कहा कि आपदा प्रबंधन विभाग इसका नियमित अनुश्रवण करे। जिन लोगों के काॅल/मैसेज आ रहे हैं, उनसे फीडबैक प्राप्त कर राशि अंतरण के कार्य में तेजी लायी जाय।

राज्य में चलाये जा रहे राहत कैम्पों में भोजन की गुणवतापूर्ण समुचित व्यवस्था हो। आवश्यकतानुसार इन कैम्पों की संख्या भी बढ़ायी जा सकती है। लोगों को किसी प्रकार की कठिनाई नहीं होने दें। राशि की कोई कमी नहीं होने दी जायेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आवश्यक सेवाओं का सप्लाई चेन मेनटेन रहे, यह सुनिश्चित किया जाय और जमाखोरी एवं कालाबाजारी पर सख्त निगरानी रखें तथा इसके विरूद्ध समुचित कार्रवाई भी सुनिश्चित की जाय।

मुख्य सचिव जिलाधिकारियों से यह सुनिश्चित करायें कि रबी फसल की कटाई में किसानों एवं मजदूरों को किसी प्रकार की परेशानी न हो। इसके लिये जिलाधिकारी स्वयं माॅनिटरिंग करें।

लोग लाॅकडाउन का अनुशासन बनाये रखें एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। कोरोना संक्रमण से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिये सरकार हरसंभव कदम उठा रही है। लोग अपने घरों में रहें और सरकार के दिये गये निर्देशों का पालन करें। लोग घबराये नहीं, अपने घरों में सुरक्षित रहें। उन्होंने लोगों से अपील की कि जब भी कठिन समय आया है, हमलोगों ने मिल-जुलकर मुकाबला किया है। मुझे पूरी उम्मीद है कि इस बार भी आप सबके सहयोग से कोरोना महामारी से निपटने में सक्षम होंगे।

 

 

LEAVE A REPLY