पटना में बच्चा चोरी के शक में फिर भीड़तंत्र का शिकार हुए दिल्ली के दो बिजनेसमैन

746
0
SHARE

राजधानी पटना में आए दिन कोई न कोई भीड़ अधिकार का शिकार हो रहे हैं ऐसा लगता है कि भीड़ ने ऐसा लगता है खुद ही फैसला कर लिया है की घटना किसी तरह की हो वह लोग कानून अपने हाथों में लेकर रहेंगे। जहां पुलिस अपराध को नियंत्रण करने की कोशिश कर रही है वही इस तरह की रोजाना घटनाओं ने पुलिस प्रशासन को काफी परेशानी में डाल रखा है इस तरह की घटना आज पटना आय दो सीख व्यापारी को बच्चा चोर समझकर जमकर पिटाई कर दी यह घटना पटना के दीघा थाना क्षेत्र की है जहां दिल्ली के रहने वाले विक्की सिंह पंजाब में करनाल के रहने वाले उनके साथी व्यापारी पटना हांडी साहब गुरुद्वारा दर्शन करने आए थे लेकिन दीघा इलाके में उन्हें स्थानीय लोगों ने बच्चा चोर समझकर पिटाई कर दी घटना की जानकारी दीघा पुलिस को मिली जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दोनों सीख व्यापारी को भीड़ से निकाला और पटना के पीएमसीएच अस्पताल में भर्ती कराया गया मामले की गंभीरता को देखते हुए पटना पुलिस के कई आला अधिकारी पीएमसीएच अस्पताल में घायल सिख व्यापारी को देखने पहुंचे और पूछताछ के क्रम में एक सिख व्यापारी ने बताया कि हम लोग कार्ड बांट रहे थे गुरु नानक देव जी का। लोगों ने सोचा कि यह लोग बच्चा चोरी का काम करते हैं दोनों सिख व्यापारियों ने लोगों को बताया कि हम ऐसा काम नहीं करते हैं लेकिन खड़े लोगों ने उनकी एक न सुनी और मारना शुरू कर दिया पुलिस वाले अगर घटनास्थल पर नहीं आते तो भीड़ ने जान से मार दिया होता.

वही पटना के सिटी एसपी ने दोनों सिख व्यापारियों का हाल जानने के बाद बताया कि दिल्ली और पंजाब से दो व्यापारी आए थे दीघा थाना क्षेत्र में घूम रहे थे और दर्शन करने जा रहे थे तो वहां पर कुछ भीड़ ने करीब सौ या डेढ़ सौ की संख्या में थे दोनों सिख व्यापारी अपना प्रचार प्रसार कर रहे थे यह लोग जैसे ही टैक्सी से उतरे भीड़ को इन पर शक हुआ इसी क्रम में इनके साथ हाथापाई किया गया ।दोनों लोग खतरे से बाहर हैं इनको अस्पताल में एडमिट करा दिया गया है और उनका बयान लेकर आगे की कार्यवाही की जाएगी फिलहाल दोनों व्यापारियों का इलाज पटना के पीएमसीएच में चल रहा है विक्की सिंह के साथी को गंभीर चोटे आई है। इस तरह की घटना कल पटना के पास के इलाके परसा में भी ऐसी घटना घटी जिसमें एक व्यक्ति को लोगों ने बुरी तरह पीटा गया वह व्यक्ति कुछ बोलने लायक नहीं था उसे पीट-पीटकर लोगों ने निवस्त्र कर दिया था ।अब देखना यह है कि रोजाना ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए प्रशासन किस तरह की कदम उठाती है?

Report: Yash raj.

LEAVE A REPLY