बिहार में कही भ्रस्टाचार की बलि तो नही चढ़ गया पुल!

540
0
SHARE

बिहार के गोपालगंज में सत्तर घाट महासेतु का उद्घटान किया था लेकिन गंडक नदी के बहाव में इस इस पुल के अप्रोच रोड ध्वस्त होने की खबर ने लोगो को चौका दिया, खबर आग की तरह फैली की गोपालगंज और चंपारण को जोड़ने वाली इस महासेतु के इस अप्रोच रोड के ध्वस्त होने से आवागमन पूरी तरह बाधित हो गया है,

263.47 करोड़ रुपये की लागत से गंडक नदी पर बना सत्तर घाट पुल पर पूर्वी चंपारण जिले को गोपालगंज जिले से जोड़ेगा, केसरिया के ढेकहां गांव के गंडक नदी पर यह पुल बना है, इस पुल के बनने के बाद चंपारण की गोपालगंज, छपरा व सीवान से दूरी कम हो जाएगी, वही इस पुल के उद्घाटन के वक्त मुख्यमंत्री ने कहा था कि पटना से बिहार के किसी भी जिले में पहुँचने में महज 5 घंटे लगेंगे.

वही सरकार के द्वारा एक रिलीज जारी कर बताया गया है कि सत्तर घाट मुख्य पुल से लगभग दो किलोमीटर दूर गोपालगंज की ओर एक 18 मी लंबाई के छोटे पुल का पहुँच पथ कट गया है, सत्तर घाट पुल को कोई नुकसान नही हुआ है.

LEAVE A REPLY