मुख्यमंत्री ने कोरोना वायरस केे संक्रमण सेे उत्पन्न वर्तमान स्थिति पर की गहन समीक्षा

509
0
SHARE

कोरोना संक्रमण के पाॅजिटिव मामले कुछ बढ़ रहे हैं, इससे घबराने की जरूरत नहीं है, कई मामले एक ही संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने से बढ़े हैं, सभी जिला के अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड्स की क्षमता बढ़ाने का दिया निर्देश। सभी जिलों में क्वारंटाइन फैसिलिटिज की क्षमता बढ़ाने का भी दिया निर्देश। स्वास्थ्य विभाग पूरी तैयारी रखे और गहन अनुश्रवण करे।

सरकार द्वारा सभी आवश्यक एवं जरूरी कदम उठाये जा रहे हैं, लोग धैर्य रखें तथा लाॅकडाउन के अनुशासन का पालन करें,

सही जानकारी दें, ट्रेवल हिस्ट्री और सोशल काॅन्टैक्ट न छिपायें। ट्रैकिंग, ट्रेसिंग एवं टेस्टिंग गहनता से हो, तभी कोरोना संक्रमण की चेन टूटेगी।

जिन्हें संक्रमण की थोड़ी सी भी आशंका हो, वे प्रो-ऐक्टिव होकर तुरंत जाॅच करायें

स्वास्थ्यकर्मियों एवं फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ दुर्व्यवहार न हो, लोग उनका सहयोग करें

नीतीश कुमार ने कोरोना वायरस से संक्रमण के कारण उत्पन्न वर्तमान स्थिति पर आज मुख्य सचिव एवं अन्य वरीय अधिकारियों के साथ गहन समीक्षा की। समीक्षा के दौरान मुख्य सचिव ने पिछले 24 घंटे में कोरोना पाॅजिटिव मरीजों की स्थिति, कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये उठाये जा रहे कदम तथा लाॅकडाउन के दौरान लोगों की राहत के लिये किये जा रहे कार्यों के संबंध में विस्तृत जानकारी दी।

समीक्षा के क्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण के पाॅजिटिव मामले कुछ बढ़ रहे हैं, इससे घबराने की जरूरत नहीं है, कई मामले एक ही संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने से बढ़े हैं। मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव को निर्देश दिया कि सभी जिलों के अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड्स की क्षमता बढ़ायी जाय। उन्होंने कहा कि साथ ही सभी जिलों में क्वारंटाइन फैसिलिटिज की क्षमता और बढ़ायी जाय। स्वास्थ्य विभाग पूरी तैयारी रखे और गहन अनुश्रवण करे। उन्होंने कि ट्रैकिंग, ट्रेसिंग एवं टेस्टिंग गहनता से हो, तभी कोरोना संक्रमण की चेन टूटेगी। काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग का काम बहुत महत्वपूर्ण है। इस कार्य की गंभीरता को समझते हुये इसे तेजी से करें। इसमें किसी प्रकार की शिथिलता नहीं बरती जानी चाहिये।

मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की कि लाॅकडाउन का पूरी गंभीरता से पालन करें, लाॅकडाउन में पूरी तौर पर अनुशासन का पालन करेंगे तो कोरोना संक्रमण की चेन टूटेगी।

मुख्य सचिव ने जानकारी दी कि पल्स पोलियो अभियान की तर्ज पर कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिये प्रभावित जिलों में डोर टू डोर स्क्रीनिंग के तहत अब तक कुल 59 लाख 26 हजार घरों का सर्वेक्षण कराया जा चुका है। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोग इसमें सहयोग करें और अपनी स्क्रीनिंग करायें। जिन्हें संक्रमण की थोड़ी सी भी आशंका हो, वे प्रो-एक्टिव होकर तुरंत जाॅच करायें तथा अपनी ट्रैवल हिस्ट्री न छुपायें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण से निपटने में स्वास्थ्यकर्मी तथा फ्रंटलाइन वर्कर्स महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। हम सबका दायित्व है कि उनके साथ विनम्रता से पेश आयें और उनके साथ किसी प्रकार का दुव्र्यवहार न करें। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि पदाधिकारी संवेदनशीलता के साथ लोगों की समस्याओं पर गौर करें और उन्हें तत्काल मदद के लिये हरसंभव कोशिश करें।

मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील करते हुये कहा कि मेरा अनुरोध है कि जो जहाॅ हैं वहीं रहें। परेशान न हों। सरकार द्वारा सभी को हरसंभव मदद की जा रही है। अन्य बीमारियों के इलाज की भी समुचित व्यवस्था की गयी है। आप सभी लोग सचेत एवं सतर्क रहेंगे, तभी स्वस्थ रहेंगे। मुझे पूरी उम्मीद है कि आप सबके सहयोग से हम सब इस महामारी पर विजय प्राप्त करने में सफल होंगे। इस महामारी की गंभीरता को देखते हुये प्रत्येक व्यक्ति का सचेत रहना नितांत आवश्यक है। सोशल डिस्टेंसिंग ही इसका एकमात्र प्रभावी उपाय है।

 

LEAVE A REPLY