अमेरिका की तरह भारत भी करें कोरोना वायरस की उत्पत्ति की जांच : मनीष सिन्हा

275
0
SHARE

बिहार भाजपा एनआरबी सेल के नेता मनीष सिन्हा ने अपने सोशल मीडिया हैंडल से एक टाइम्स ऑफ इंडिया के आर्टिकल को शेयर करते हुए भारत सरकार को एक सुझाव दिया है.

आपको बता दें ये सुझाव कोरोना वायरस के ऊपर हुए एक नए खुलासे पर उन्होंने दिया है. उन्होंने ने लिखा पूरा विश्व कोरोना को लेकर प्रथम दिन से चीन पर शक कर रहा है , पर अब दो भारतीय द्वारा एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन में कोरोना वायरस साल 2012 में ही मिल गया था . भारत को भी अमेरिका की तरह जांच करनी चाहिए.

सबसे पहले बता दें , दो भारतीय डॉ मोनाली सी राहुलकर व डॉ राहुल बहुईलकर ( पुणे ) जो अमेरिका के ग्लोबल एलायंस का हिस्सा है उनके रिपोर्ट के मुताबिक साल 2012 में ही चीन के एक प्रांत एक गुफा से कोरोना जैसे वायरस मिला था जिसे बाद वुहान लैब लाकर और खतरनाक बना दिया गया है. दोनों डॉक्टरों ने गूगल ट्रांसलेट की मदद से हजारों चीनी दस्तावेजों को कन्वर्ट किया और ये साक्ष्य पेश किया है.

मनीष सिन्हा भारतीय जनता पार्टी के नॉन रेजिडेंशियल इंडियन विंग के नेता है. आईटी सेक्टर की अच्छी समझ रखते है और खुद अमेरिका में 15 साल रह चुके हैं.

हालांकि भारत सरकार ने अमेरिका के द्वारा शुरू की गई जांच को समर्थन पहले ही दे दिया है परन्तु बहुत से लोगों की ये मांग है कि भारत अपनी एजेंसियों का इस्तेमाल कर अपने स्तर पर खोज करें.

LEAVE A REPLY