ग्रामीण क्षेत्र के सभी विद्यालयों एवं आंगनवाड़ी केंद्रों में पेयजल की सुविधा 9 जनवरी तक उपलब्ध कराने का निर्देश

343
0
SHARE

मुख्यमंत्री ग्रामीण पेयजल निश्चय योजना से विद्यालयों एवं आंगनबाड़ी केंद्रों को नलजल से किया जाएगा आच्छादित।

जिला अंतर्गत 3136 विद्यालय एवं 4937 आंगनवाड़ी केंद्र के बच्चे होंगे लाभान्वित।

कार्यपालक अभियंता पीएचईडी एवं डीपीआरओ को सक्रिय एवं तत्पर होकर ससमय कार्य पूरा कराने का निर्देश।

डीएम ने संबंधित अधिकारियों के साथ की बैठक, सरकारी निर्देश के अनुरूप समय सीमा के भीतर कार्यान्वयन का दिया निर्देश। नल जल विहीन विद्यालयों एवं आंगनवाड़ी केंद्रों की सूची तैयार कर अविलंब उपलब्ध कराने का निर्देश। प्रखंड स्तर पर बीडीओ/सीडीपीओ/बीइओ को आपस में बैठक कर स्थानीय स्तर पर वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति/पीएचइडी के माध्यम से कार्य कराने का निर्देश।

जिलाधिकारी श्री कुमार रवि ने सरकारी द्वारा प्रदत्त निर्देश के अनुरूप नल जल योजना से ग्रामीण क्षेत्र के विद्यालयों एवं आंगनबाड़ी केंद्रों में पेयजल की सुविधा उपलब्ध कराने हेतु संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की तथा आवश्यक निर्देश दिया।

जिलाधिकारी ने उप विकास आयुक्त को सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं बाल विकास परियोजना पदाधिकारी के साथ बैठक कर पेयजल विहीन विद्यालयों एवं आंगनवाड़ी केंद्रों की पंचायतवार सूची प्राप्त करने का निर्देश दिया। साथ ही सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी योजना के क्रियान्वयन हेतु स्थानीय स्तर पर संबंधित अधिकारियों एवं प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति अथवा पीएचइडी के माध्यम से कार्य कराना सुनिश्चित करेंगे।

विदित हो कि पटना जिला अंतर्गत स्कूल 3136 ग्रामीण क्षेत्र के विद्यालय हैं जिसमें प्राथमिक विद्यालय 1984 मध्य विद्यालय 1089 तथा उत्क्रमित मध्य विद्यालय 63 है। इसके अतिरिक्त जिले में आंगनवाड़ी केंद्र की संख्या 4937 है जिसमें 1183 सरकारी भवन में तथा 3754 प्राइवेट भवन में संचालित हैं। इन विद्यालयों अथवा आंगनबाड़ी केंद्रों में से नल विहीन स्कूलों एवं केंद्रों की सूची अविलंब प्राप्त कर नल जल योजना से कार्य अति शीघ्र पूरा किए जाएंगे।

नल जल योजना के तहत सरकारी प्राथमिक विद्यालयों में न्यूनतम पांच टैप, मध्य विद्यालयों में सात टैप तथा आंगनवाड़ी केंद्रों में दो टैप लगाकर पेयजल सुविधा उपलब्ध कराया जाएगा । पानी के भंडारण हेतु प्राथमिक विद्यालय में 500 लीटर क्षमता का दो टैंक तथा मध्य विद्यालयों में प्रति विद्यालय तीन भंडारण टैंक होंगे।

लगाए गए नलों की सुरक्षा की जवाबदेही संबंधित विद्यालय के प्रधानाध्यापक को तथा प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को दिए जाएंगे। इसके लिए जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा पत्र निर्गत कर इस दिशा में आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

बैठक में उप विकास आयुक्त श्री रिची पांडेय, जिला शिक्षा पदाधिकारी श्री ज्योति प्रसाद, ओएसडी श्री सुभाष नारायण प्रसाद, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी श्री प्रमोद कुमार कार्यपालक अभियंता लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग श्री प्रभात कुमार जिला कार्यक्रम पदाधिकारी आईसीडीएस श्रीमती प्रियंवदा भारती जिला पंचायत राज पदाधिकारी श्रीमती सुषमा कुमारी सहित कई अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY