पिछले 10 सालों से बेहतर बिहार बनाने में लगे हैं मनीष सिंहा

1302
0
SHARE

देश में अगर बिहारी काम करना बंद कर दे तो देश की विकास थम जाएगी लेकिन वही बिहारी बिहार में काम करें तो क्या बिहार देश के अग्रणी राज्यों में पहले नंबर पर नहीं आएगा, बिहार में पिछले कई दशकों से कई राजनीतिक दलों ने बिहारियों को बिहार में रोजगार देने का सिर्फ वादा ही किया है लेकिन बिहार में रोजगार नहीं मिला, यही वजह है कि बिहारी देश के अन्य राज्यों में जाकर उनकी तरक्की के लिए अपना खून पसीना तक लगा बहा रहे हैं लेकिन बिहार में बैठे सत्ताधारी दल के नेताओं को उनकी मेहनत नहीं दिखती और यही वजह है कि सिर्फ राजनीति रोटी सेकने के चुनावी जुमले ही सुनाते आये हैं.

लेकिन बिहार में एक ऐसे व्यक्ति भी हैं जो बिना हो हल्ला मचाए बिहार को बेहतर बिहार बनाने के लिए पिछले 10 सालों से जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं जिनका नाम है मनीष सिंहा और यही वजह है की मनीष ने अपने संगठन का नाम बिहार पॉजिटिव रखा है.

कौन है मनीष सिंहा?

मनीष सिंहा पटना के संत माइकल स्कूल से पढ़ाई की हैं और उन्होंने इंजीनियरिंग की है, मनीष सिंहा भारत पेट्रोलियम में नौकरी की और 10 साल तक अमेरिका में बिहारियों का गौरव बढ़ाया है, वही मनीष सिंहा ने भारत में आईटी कंपनी चलाते है और बिहार मेंं भी कई संगठन चलाते हैं जिसमें बिहारियों को आगे बढ़ाने में लगे है.

मनीष सिंहा पिछले 10 साल से बिहार पॉजिटिव नाम की संस्था चला रहे हैं जिसका मकसद है बिहार को बेहतर बनाना और बिहारियों को रोजगार देकर बिहार को देश के अग्रणी राज्यों में शामिल करना.

बिहार में इन प्रमुख कामों पर ध्यान दे रहे हैं मनीष सिंहा.

बिहार के गांव में प्राथमिक इलाज और हाइजीन पर लोगों को सजग करना. 

यहां रोजगार के अवसर बढ़ाना , आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और डिजिटल मार्केटिंग पर फोकस कर नई इंडस्ट्री को बनाना. 

एक ऐसा मंच बनाना जहां पर हर नवीन सोच वाला युवा को आविष्कार और नए विचारों को आगे लेकर आ सके. 

एक ग्राम लेवल पर डिजिटल एको सिस्टम का निर्माण जहां की सामूहिक भवनों में इंटरनेट एक्सेस हो और कंप्यूटर और इंटरनेट की व्यवस्था हो. 

युवाओं और महिलाओं को प्रशिक्षण देकर कौशल बनना.

LEAVE A REPLY