श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव पूरे देश में मंगलवार को सिद्धि योग में मनाया जा रहा है

561
0
SHARE
krishna

भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव पूरे देश में मंगलवार को सिद्धि योग में मनाया जा रहा है। कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के चलते इस बार जन्माष्टमी पर श्रद्धालुओं को मंदिर में जाने की इजाजत नहीं है। मंदिर में केवल पुजारी और प्रबंधन समिति के लोग ही धार्मिक अनुष्ठान पूरे करेंगे। आमजन अपने घरों में भगवान का जन्मोत्सव मनाएंगे। पूजा का शुभ मुहूर्त सुबह 10:16 बजे से विभिन्‍न अंतरालों पर रात 12:47 बजे तक है। हालांकि, साधु-संत और वैष्णव संप्रदाय से जुड़े श्रद्धालु बुधवार को कृष्णाष्टमी मनाएंगे।

पटना के आचार्य संजय ने बनारसी और मिथिला पंचांगों के आधार पर बताया कि इस बार 11 अगस्त दिन मंगलवार को मिथिला पंचांग के अनुसार सुबह 6.22 बजे अष्टमी तिथि शुरू होगी, जो 12 अगस्त को सुबह 8.09 बजे तक है।  बनारस पंचांग के अनुसार मंगलवार को सुबह छह बजकर 14 मिनट पर अष्टमी तिथि प्रारंभ हो रही है जो अगले दिन बुधवार को 08.01 बजे समाप्त होगी। भाद्रपद कृष्णपक्ष की अष्टमी तिथि व रोहिणी नक्षत्र में भगवान श्रीविष्णु के आठवें अवतार भगवान श्रीकृष्ण का जन्म हुआ था।

मंगलवार को पटना जंक्शन स्थित महावीर मंदिर, बोरिंग कैनाल रोड स्थित द्वारिका मंदिर सहित अन्य मंदिरों में भी भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मंगलवार की रात ही मनाया जाएगा। द्वारिका मंदिर के आचार्य रूपेश पाठक ने बताया कि जन्माष्टमी के लिए मंदिर को सजाया गया है। मंदिर में रात आठ बजे से भजन-कीर्तन होगा और मध्य रात्रि 12 बजे भगवान का जन्मोत्सव मनाया जाएगा। महावीर मंदिर न्यास के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि मंगलवार को मंदिर के पुजारी भगवान का जन्मोत्सव मनाते हुए भजन-कीर्तन करेंगे।

LEAVE A REPLY