बिहार के गया में नक्सलियों के गढ़ में ऑनलाइन शिक्षा

428
0
SHARE

गया के अतिनक्सल प्रभावित क्षेत्र और नक्सलियों के गढ़ कहे जाने वाले इमामगंज क्षेत्र के बच्चे स्कूल बंद रहने के कारन ऑनलाइन क्लास कर पढाई को कर रहे है पूरी.

गया का इमामगंज प्रखण्ड जँहा कभी नक्सली का ख़ौफ़ था और इस क्षेत्र में शिक्षक भी बच्चो को स्कूल में पढने से डरते थे आज उसी नक्सल प्रभावित क्षेत्र के बच्चे अपने अपने स्कूल के द्वारा चलाये जा रहे ऑनलाइन क्लास के माध्यम से अपनी पढाई को जारी रखे हुए है ज्ञात हो की कोरोना वायरस के चलते पिछले कई महीनो से सरकारी और गैर सरकारी सभी स्कूल बंद है और स्कूल बंद रहने के कारन बच्चो की पढाई दिक्कत नहीं आये इसके लिए सभी स्कूल प्रबंधक के द्वारा सभी बच्चो को ऑनलाइन पढाई कराई जा रही है वंही अतिनक्सल प्रभावित क्षेत्र में एक निजी स्कूल के शिक्षक ने बताया की चुकी काफी पिछड़ा इलाका है यैसे में बेहतर शिक्षा देना किसी चुनोती से कम नही है।लॉक डाउन के दौरान से आज तक सभी स्कूल बंद है यैसे में स्कूल प्रबंधन के द्वारा विशेष app के माध्यम से शिक्षा देने में जुटे है।कहा कि बच्चो को व्हाट्सएप्प, फेसबुक,इंस्टाग्राम आदि सोशल मीडिया से दूर रखकर विशेष एप तैयार किया गया है चुकी अगर यूट्यूब के माध्यम से अगर पढ़ाते तो यूट्यूब पर कोर्स के अलावे अन्य वीडियो भी खुलते है जिससे बच्चो का भटकाव अन्य वीडियो की तरफ जा सकता है यैसे में उनसे बचाव करते हुए यह एप के माध्यम से ऑनलाइन क्लासेज ली जा रही है।बताया कि कुछ सुदूरवर्ती गॉव के भी बच्चे है जँहा मोबाइल नेटवर्क नही काम करता है वैसे छात्रों के लिए एप पर लर्निंग वीडियो अपलोड किया जाता है जिससे बच्चे पढ़ाई कर सके.

LEAVE A REPLY