पटना आयुक्त निकले थे स्मार्ट सिटी के लिए अतिक्रमण हटाने लेकिन खोल दी सरकार के शराबबंदी की पोल.

494
0
SHARE

पटना को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए सरकार और मेहनत कर रही है और जगह-जगह ट्रैफिक सिस्टम में बदलाव करने के साथ-साथ पटना में जाम से निजात को दूर करने के लिए अतिक्रमण अभियान चलाकर जगह जगह स्लीप रोड का निर्माण किया जा है उसी क्रम में आज पटना के प्रमंडलीय आयुक्त पटना नगर निगम की टीम और उत्पाद विभाग की टीम पटना के आशियाना दीघा रोड पर सालों से अतिक्रमण किए हुए झुग्गी झोपड़ियों को बुलडोजर लेकर तो नहीं पहुंची लेकिन जब निगम का बुलडोजर झुग्गी झोपड़ी पर चला और सरकार के शराबबंदी की पोल खुल गई,  पटना के सबसे व्यस्ततम इलाके में झुग्गी झोपड़ियों में देसी शराब की फैक्ट्री चल रही थी जिसे देख पटना के आयुक्त संजय अग्रवाल दंग रह गए जितने भी अतिक्रमण किए हुए घर थे सभी के अंदर देसी शराब के कंटेनर रखे हुए थे जिसे उत्पाद विभाग की टीम ने जप्त किया आयुक्त यह देखकर हैरान रह गए, इतने पॉश इलाके में देसी शराब का धंधा फल-फूल रहा था और स्थानीय थाना को इसकी खबर नहीं थी.

आयुक्त संजय अग्रवाल ने बताया की इस बार हमलोग पीन पॉइंटेड जगह जहा ट्रैफिक में परेशानी अतिक्रमण के कारण हो रहा है उन जगहों पर काम कर रहे है, जैसे आशियाना दीघा मोड़ का ये रोड है, यहाँ काफी प्रॉब्लम होता था और कुछ लोग अतिक्रमण करके दारू बनाने का काम कर रहे थे, दारू बनाने की फैक्ट्री भी पकड़ी गई है, सभी पर fir भी की जायेगी, और जो लोग दारू बनाते थे उनलोगों को जेल भेजा जाएगा, और इस स्लिप रोड को 7 दिन में कंप्लीट किया जाएगा ताकि जाम की समस्या को दूर किया जा सके और जो शराब की फैक्ट्रियां पकड़ी गई है बहुत हीं लापरवाही है जो भी लोग इसमें दोषी होंगे उनपर भी कार्रवाई होगी, डीएम और एसएसपी से रिपोर्ट ली जाएगी ताकि जिनकी भी इसमें जवाबदेही होगी उनपर कार्रवाई की जाए.

LEAVE A REPLY