मणिभूषण प्रताप सेंगर ने गरीबो के हित मे और माफियाओं पर नकेल कसने के लिए, एक नए विधेयक बनाने की मांग

1341
0
SHARE

बिहार के चर्चित पीआईएल एक्पर्ट और पटना हाईकोर्ट वरीय अधिवक्ता मणिभूषण प्रताप सेंगर ने जनहित में एक नए विधेयक लाने की मांग की है. जो जनता के हित में है और जो कानून की धज्जियां उड़ाने वालो के लिए एक नकेल है. मणिभूषण प्रताप सेंगर ने मांग की है कि. ‘भारत सरकार एवं राज्य सरकार कम से कम बिहार के माननीय मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी से यह नम्र निवेदन है की एक ऐसी विधेयक लाई जाए या फिर जनहित में एक ऐसा कानून पास किया जाए की अगर किसी भी व्यक्ति अथवा मरीज की मृत्यु इलाज के दौरान सरकारी या फिर प्राइवेट अस्पतालों में हो जाती है तो उसका सारा खर्चा अथवा उस मरीज के इलाज में जितनी भी फीस होती है वह माफ हो जाए. इसका दो फायदा है ,एक फायदा की डॉक्टर हर संभव प्रयास करेंगे की मरीज की मौत ना हो और इलाज में किसी तरह की लापरवाही डॉक्टरों की तरफ से नहीं होगी ।और दूसरा फायदा यह होगा कि आज के तिथि में जो एक बहुत ही बुरी बात अस्पतालों की निकल के सामने आती हैं की मरीज के मौत के बाद भी उसे वेंटिलेटर पर रखकर तथा उसके मरणोपरांत भी इलाज के नाम पर जो फालतू पैसा लिया जाता है व पूरी तरह से खत्म हो जाएगा, अतः अगर सच में केंद्र सरकार जनहित का सोचती है और जन कल्याण के लिए तत्पर है ,तो भारत सरकार को एवं अन्य राज्य सरकारों के साथ साथ बिहार सरकार को भी इस कानून को तुरंत पास करना चाहिए, मेरा बिहार के संदर्भ मे यह खास कर आग्रह है की जब बिहार सरकार और हमारे सुशासन बाबू केवल लोगों को नशा मुक्त करने के लिए शराबबंदी कानून ला सकती है तो आम आदमी को सही स्वास्थ्य व्यवस्था एवं प्राइवेट अस्पतालों पर नकेल कसने के लिए यह कानून पास नहीं कर सकते ? आज की तिथि में स्वास्थ्य सुविधा एक व्यवसाय बन गया है इसलिए मेरा नम्र निवेदन है भारत सरकार और बिहार राज्य सरकार से कि वह इस कानून को भारत में एवं हर एक राज्य में लागू करने की कृपा करें’.

LEAVE A REPLY