बिहार मानसून सत्र में बिना वैक्सीनेशन के विधायकों को नहीं मिलेगी एंट्री

58
0
SHARE

बिहार में लॉकडाउन की वजह से कोरोना वायरस की रफ्तार थम गई है। इस वजह से नीतीश सरकार ने पाबंदियों में काफी छूट दे दी है। हालांकि अब भी संक्रमण फैलने की संभावना बनी हुई है। तीसरी लहर को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है। इसी बीच सूत्रों के अनुसार पता चला है कि मानसून सत्र में बिना वैक्सीन लगवाए विधायकों को एंट्री नहीं मिलेगी।

वहीं बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने सभी विधायकों से सदन के मानसून सत्र के पहले सपरिवार कोरोना टीका जरूर लगवाने तथा अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्र में लोगों को इसके लिए प्रोत्साहित करने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि कोरोना से बचाव के लिए टीका ही सर्वोत्तम सुरक्षा कवच है।
आगे कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में 21 जून से 18 वर्ष के ऊपर के सभी नागरिकों के लिए देश में मुफ्त टीकाकरण महाभियान की शुरुआत की जा चुकी है। जनप्रतिनिधि होने के कारण हमारी सामाजिक जिम्मेदारी औरों से कहीं ज्यादा है।

हर विधायक बहुत बड़े क्षेत्र का जन प्रतिनित्व करते है, जिससे उनकी पहल का सीधा असर जनता पर पड़ता है। सभी जनप्रतिनिधियों, राजनीतिक/ सामाजिक/धार्मिक कार्यकर्ता द्वारा टीका लगाने के लिए जनता को उत्साहित करने पर समाज में सकारात्मक संदेश जाएगा। इससे अधिक से अधिक लोगों को टीका लगाया जा सकेगा।

वैसे विधायक जिनके प्रोत्साहन से उनके क्षेत्र में 80 प्रतिशत से ज्यादा टीकाकरण करा दिया जायेगा, उन्हें विधानसभा द्वारा सम्मानित किया जाएगा। कोरोना के टीकाकरण में सक्रियता से भाग लेने वाले लोग राष्ट्रहित में प्रशंसनीय कार्य कर रहे हैं। कोरोना टीका के संबंध में भ्रांति फैलाने वाले लोग समाज के सबसे बड़े दुश्मन हैं।

REPORT : AKSHAY DEEP

LEAVE A REPLY